Skip to main content
2015 Years of Soil Swachhta Bharat Mission Make in India 150 years of celebrating the Mahatma Skoch Gold Award

अतीत में भारतीय अर्थव्यवस्था

Description

अतीत में भारतीय अर्थव्यवस्था के विकास में कृषि उत्पादकता में सुधार के भोजन के लिए बढ़ती मांग के लिए पूरे राष्ट्र को खाद्य सुरक्षा प्रदान मिलने के महत्व को रेखांकित करता है. उर्वरक क्षेत्र दृष्टिकोण तेजी से अंतरराष्ट्रीय क्षेत्र में बदल रहा है. भारतीय उर्वरक उद्योग के लिए प्रौद्योगिकी और उर्वरक उत्पादन के मामले में विकास के साथ पकड़ने की जरूरत है. उर्वरक विभाग के आँकड़े उर्वरक उर्वरक उद्योग के लाभ के लिए हर साल प्रकाशित किया. स्थापित मानकों के साथ धुन में, यह उर्वरकों की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित करने और जिससे खाद्य सुरक्षा उपलब्ध कराने की प्रक्रिया में नीति निर्माताओं और योजनाकारों के लिए एक महत्वपूर्ण उपकरण किया जाएगा.

यह मेरे बयाना कि प्रकाशन "भारतीय उर्वरक परिदृश्य-2010" उर्वरक विभाग द्वारा लाया एक प्रयास इस दिशा में किया जाएगा. आशा है उर्वरक आँकड़े, कहने के लिए अनावश्यक, यह उर्वरक विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों के ठोस प्रयासों के के परिणाम है.

मुझे आशा है कि इस प्रकाशन उर्वरक क्षेत्र की बेहतरी और विकास के लिए नीति निर्माताओं और योजनाकारों के द्वारा उपयोग किया जाएगा.