वार्षिक योजना बजट

बारहवीं पंचवर्षीय योजना (2012-17) के लिए योजना आयोग ने 17246.61 करोड़ रुपये का परिव्‍यय अनुमोदित किया है जिसमें 1484.00 करोड़ रुपये सकल बजटीय सहायता (जीबीएस) और 15762.61 करोड़ रुपये आन्‍तरिक एवं अतिरिक्‍त बजटीय संसाधन (आईईबीआर) के रूप में शामिल है। 

 

2.    2013-14 के लिए परिव्‍यय 3039.71 करोड़ रुपये था जिसमें से 2770.71 करोड़ रुपये आईईबीआर के अंतर्गत और शेष 269.00 करोड़ रुपये की राशि जीबीएस के अंतर्गत उपलब्‍ध कराए गए। 2013-14 के संशोधित आकलन में आंवटन घटाकर 1327.63 करोड़ रुपये कर दिया गया जिसमें जीबीएस के तहत 9 करोड़ रुपये और आईईबीआर के तहत 1318.63 करोड़ रुपये रखे गए। वर्ष 2014-15 के लिए 621.64 करोड़ रुपये का योजना आंवटन किया गया है जिसमें जीबीएस के तहत 100 करोड रुपये और आईईबीआर के तहत 521.64 करोड़ रुपये शामिल हैं। 

 

3.    2014-15 के दौरान 100.00 करोड़ रुपये का जीबीएस फर्टिलाइजर्स एण्‍ड केमिकल्‍स ट्रावनकोर लि. (42.66 करोड़ रुपये) ब्रहृापुत्र वैली फर्टिलाइजर कॉरपोरेशन लि. (10.00 करोड़ रुपये), मद्रास फर्टिलाइजर्स लि. (30.00 करोड रुपये) और अन्‍य योजनाओं (जैसे एमआईएस/आईटी और आरएण्‍डडी) के लिए 12.34 करोड़ रुपये है उर्वरक विभाग विदेशों में संयुक्‍त उद्यम की संभावनाएं खोज रहा है जिसके लिए संयुक्‍त उद्यम के तहत 5.00 करोड़ रुपये की राशि रखी गई है। 

 

4.    2014-15 के दौरान 521.64 करोड़ रुपये के आईईबीआर में से फैगमिल के लिए (38.64 करोड़ रुपये) नेशनल फर्टिलाइजर्स लि. (150.00 करोड़ रुपये), प्रोजेक्ट एण्‍ड डेवलपमेंट ऑफ इडिंया लि. (21.54 करोड़ रुपये), राष्‍ट्रीय केमिकल्‍स एण्‍ड फर्टिलाइजर्स लि. 311.45 (करोड़ रुपये) हैं।

 

5.    वर्ष 2012-13 के लिए 3331.29 करोड़ रुपये का योजना आंवटन था जिसमें जीबीएस के अंतर्गत 256 करोड़ रुपये और आईईबीआर के अंतर्गत 3075.29 करोड़ रुपये शामिल है। संशोधित आकलन में आंवटन घटकर 2981.75 करोड़ रुपये हो गया जिसमें जीबीएस के अंतर्गत 10 करोड़ रुपये और आईईबीआर के अंतर्गत 2971.75 करोड़ रुपये शामिल है।